गोलगप्पा और अरस्तु?! एक समीकरण

प्यारे दोस्तों, शीर्षक देख के आपके मुँह में पानी ज़रूर आया होगा. लाज़मी है, आखिर लिखते वक़्त मेरे भी मुँह में सावन-भादों जैसा ही मौसम था. यकीन मानिये, आज सुबह के पहले मेरे खयालों में भी कभी गोलगप्पो का विवरण … Continue reading गोलगप्पा और अरस्तु?! एक समीकरण